जिला को स्वच्छ, सुंदर तथा हरा भरा बनाने के लिए कार्य करें

305

district

 

फतेहाबाद, 17 मई 2019 (सुनील कुमार) – पर्यावरण संरक्षण के लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाए। पार्कों को भी स्वच्छ व सुंदर बनाए। कूडा-कर्कट को विशेष ध्यान देकर उठाए और चिन्ह्ति स्थान पर एकत्रित कर इसका सदुपयोग हो सके, इसके लिए अन्य जिलों से संपर्क कर योजना बनाए। ये निर्देश उपायुक्त धीरेन्द्र खडग़टा ने लघु सचिवालय के सभागार में नगरपरिषद, नगरपालिका, राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के सदस्य व संबंधित विभाग के अधिकारियों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।

उपायुक्त ने कहा कि सरकारी भूमि पर अवैध कब्जों को तुरंत प्रभाव से हटवाना सुनिश्चित करें। शहरों में बने पार्क एवं सडक़ों का रखरखाव व मुरम्मत का कार्य समय-समय पर करवाए। मुख्य मार्गों एवं रास्तों में रेहड़ी लगाने वाले, गंदगी फैलाने तथा अतिक्रमण करने वाले लोगों के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाए। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सभी होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट, मैरिज पैलेस, स्कूल, हस्पताल इत्यादि सार्वजनिक स्थानों के पास डस्टबिन रखवाना सुनिश्चित करें और समय-समय पर संबंधित विभाग के अधिकारी सफाई व्यवस्था एवं स्वच्छता को बनाए रखने के लिए निरीक्षण करे। रेहड़ी संचालकों तथा सभी मार्केट में 50 से 100 मीटर की दूरी पर डस्टबिन रखवाना सुनिश्चित करे। उपायुक्त ने कहा कि नदी, नालों तथा घग्गर में कोई गंदगी व कूडा-कर्कट न डालने पाए, इसके लिए संबंधित विभाग निगरानी रखे और उल्लंघना करने वाले लोगों के चालान किए जाए। पार्कों व ग्रीन वेस्ट में कम्पोस्टिंग पीट बनाने का कार्य करे। जिन पार्कों या ग्रीन वेस्ट में अवैध कब्जें है, उन्हें तुरंत प्रभाव से हटवा दिया जाए। सामाजिक संस्थानों के साथ मिलकर ग्रीन वेस्ट को कम्पोस्ट बनाने के लिए प्रेरित करे।

उन्होंने कहा कि पोलिथीन व प्लास्टिक आदि की बिक्री पर पूर्णतया: पाबंदी लगाने का काम करे और समय-समय पर छापामार कार्रवाई करे। प्लास्टिक व पोलिथीन आदि का चालान करने के लिए पुलिस का भी सहयोग लिया जाए। कूडे-कर्कट को घर-घर जाकर उठाने के लिए यूजर चार्ज निर्धारित दरों के अनुसार ले लिया जाए। उपायुक्त ने कहा कि रेग पिकरों को अपनी कूडा उठाने वाली गाडिय़ों के साथ जोड़ दिया है, जिससे कूडे का पृथक्कीकरण कूडा उठाते ही साथ के साथ किया जा सके। जिससे जो चीजें रिसाईकिल या रि-यूज करने लायक है तो उसका रेग पिकरों के माध्यम से रिसाईकिल तक पहुंचाया जा सके ताकि रेग पिकरों की आय में कुछ ईजाफा एवं शहर की सफाई व्यवस्था को और भी अच्छे से दुरूस्त किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी रेग पिकरों की पहचान एवं उनको आईडी कार्ड वितरण करके कूडे का पृथक्कीकरण करने एवं सफाई से संबंधित कुछ कार्यों में उनको अस्थाई रूप से जोड़ा जाए जिससे सफाई व्यवस्था और अच्छे से दुरूस्त की जा सके। इसके अलावा सूखा और गीला कूडा अलग-अलग करके गीले कूडे से खाद एवं सूखे कूडे में जो भी रिसाईकल या रि-यूज करने लायक है तो उसे अलग करके रिसाईकिल तक पहुंचाया जा सके।

उपायुक्त ने नगरपरिषद व पालिका के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे खाली पड़ी दुकानों को नीलाम करे या बैंकों को लिज पर दें। सडक़ों के रखरखाव व मुरम्मत का कार्य समय-समय पर करवाए। शहर में स्ट्रीट लाईटों के लिए प्वाईंट चिन्ह्ति कर बिजली के मीटर लगवाना सुनिश्चित करे। शहरों में स्ट्रीट लाईटों को जलाने के लिए आटोमेटिक मैन स्वीच लगवाए, जिसमें टाईमिंग भी सैट करे। उन्होंने बिजली विभाग को निर्देश दिए कि वे नगर परिषद व नगरपालिका के साथ तालमेल कर बिजली मीटरिंग, पोल आदि का उचित प्रबंध कर चिन्ह्ति प्वाईंट पर मीटर लगवाना सुनिश्चित करे। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे आमजन मानस की शिकायतों का निवारण प्राथमिकता के आधार पर करे।

बैठक में सिविल जज सुमित तुरकिया, नगराधीश राहुल मित्तल, डीएसपी सुभाष चंद्र, कार्यकारी अभियंता शमशेर सिंह, ईओ जितेन्द्र कुमार, निरीक्षक रामधन सहित फतेहाबाद, रतिया, टोहाना, भूना, जाखल के नगरपरिषद व पालिका के सचिव, एओ आदि मौजूद रहे।