पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए लोगों को करना होगा जागरुक : मोहित मदनलाल ग्रोवर

255

World Environment Day

 

गुरुग्राम, 5 जून 2019। वृक्ष जीवन के स्तम्भ होते है। वृक्षों के बिना धरती पर मानव जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। मानव जीवन के लिए आवश्यक संसाधनों की पूर्ति वृक्ष ही करते है। आज लगाया गया पौधा कल वृक्ष बनता है जो आने वाली पीढिय़ों को फायदा देता है। उक्त बात युवा नेता व समाजसेवी मोहित मदनलाल ग्रोवर ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर न्यू रेलवे रोड स्थित सेंट क्रिस्पियन स्कूल के निकट आयोजित पौधारोपण अभियान में बड़ी संख्या में आए बच्चों व गणमान्य लोगों को संबोधित करते हुए कही।

 

 

World Environment Day

 

मोहित मदनलाल ग्रोवर ने बच्चों के हाथों छायादार व फलदार पौधे भी रोपित कराए। मोहित मदनलाल ग्रोवर ने कहा कि वृक्ष हमें हवा, पानी, भोजन, लकड़ी, फल, फूल आदि बहुमूल्य चीजें देते हैं। वृक्ष कार्बन डाइऑक्साइड को ग्रहण करके प्राणवायु ऑक्सीजन छोड़ते है। ये हमे इतना कुछ देते है लेकिन बदले में हमसे कुछ भी नही लेते है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग, प्राकृतिक आपदाओं और बदलते मौसम चक्र से पृथ्वी को काफी नुकसान हो रहा है। लगातार वृक्षों की कटाई हो रही है, जिससे पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है। मौसम में आ रहे लगातार परिवर्तन से मनुष्य का जीवन भी असंतुलित हो गया है। यदि हम समय रहते बड़ी संख्या में पौधारोपण करते हैं तो पर्यावरण को संतुलित रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में जल, थल, आकाश, जीव-निर्जीव तथा समस्त प्रकृति को पूज्य माना गया है।

 

 

World Environment Day

 

हमारे धार्मिक ग्रंथों में भी उल्लेख किया गया है कि वृक्ष जीवनदाता होते हैं और इनका संरक्षण ही हमारे लिए सुखदायक है। उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि पर्यावरण को संरक्षित रखने व प्रदूृषण को रोकने के लिए हमें लोगों को जागरुक करना होगा। इसमें युवा वर्ग की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। अधिक से अधिक पौधे रोपित करने चाहिए, प्लास्टिक से निर्मित वस्तुओं का प्रयोग नहीं करना चाहिए, जल का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए। उन्होंने युवाओं से कहा कि यदि अपना कल सुरक्षित करना है तो हमें आज बदलना होगा। मोहित ग्रोवर ने कहा कि हर व्यक्ति को एक पौधा लगाने का संकल्प लेना चाहिए और अपने घर में होने वाले मांगलिक कार्यों को चिरस्थायी बनाने के लिए परिवार के सदस्यों के साथ पौधारोपण करना चाहिए। साहित्यों में उल्लेख मिलता है कि एक वृक्ष 100 पुत्र के समान है। पृथ्वी को हरा-भरा रखने और पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए पौधरोपण और उनका संरक्षण जरुरी है।