Posted on Leave a comment

सुमन मुटनेजा अपहरण कांड की गुत्थी सुलझी, आरोपी गिरफ्तार

suman mutneja

 

जलालाबाद, 23 अप्रैल 2019 – तीन दिन पहले जलालाबाद के सदर थाना के समीप से अपहृत हुये नजदीकी गांव पंजेके के निवासी व जलालाबाद में पेस्टिसाइड का व्यवसाय करने वाले सुमन मुटनेजा की कल देर रात फाजिल्का के समीप गांव घल्लू से गुजरती गंग नहर से लाश मिलने के बाद शहर में चल रही अफवाहों का दौर समाप्त होने के साथ ही शोक के साथ डर की लहर दौड़ गयी।

गौरतलब है कि 3 दिन पहले जलालाबाद में पेस्टिसाइड्स का व्यवसाय करने वाले सुमन मुटनेजा का शाम करीब 6 बजे जलालाबाद से गांव वापिस जाते समय रास्ते में फिरोजपुर रोड स्थित पुलिस थाना सदर के समीप कुछ लोगों ने अपहरण कर लिया था, जिसकी कुछ ही समय बाद वहां लगे एक स्कूल के सीसीटीवी कैमरों से शूट हुई वीडियो भी वायरल हुई थी।

जिसके बाद तीन जिलों फिरोजपुर, फाजिल्का व मुक्तसर की पुलिस सुमन मुटनेजा की तलाश में लगातार हाथ पांव मार रही थी। फाजिल्का के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद मुटनेजा का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

एक विशेष प्रेसवार्ता में जानकारी देते हुए फिरोजपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मुखविंदर सिंह छीना ने बताया कि किसी भी तरह का कोई भी सुराग ना होने के कारण पुलिस मुटनेजा को नहीं बचा पाई, इसका उनको बहुत अफसोस है, परन्तु त्वरित कार्यवाई करते हुए इस वारदात के सभी मुजरिमों को पकड़ने में पुलिस सफल रही है। उन्होंने बताया कि आरोपियों से एक रिवाल्वर व 12 ज़िंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। वारदात में प्रयोग की गई कार भी बरामद कर ली गयी है।

उन्होंने बताया कि ये वारदात फिरौती व मुख्यारोपी द्वारा मुटनेजा के 4 लाख रुपये वापस ना करने पड़ें इसलिए की गई है। मुटनेजा की अपहरण वाली रात ही हत्या करके लाश को मुटनेजा की आई20 कार के साथ ही गंग नहर में फेंक दिया गया और फिर आरोपियों द्वारा अलग अलग स्थानों पर जाकर मुटनेजा के परिजनों से फोन करके फिरौती के लिए पैसों की मांग की। आरोपी जान पहचान के होने के कारण मुटनेजा की हत्या की गई ताकि बाद में पुलिस कार्यवाई से बचा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.