समाजवादी पार्टी ने प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला, विभिन्न समस्याओं को लेकर दिया ज्ञापन

212

Samajwadi Party

 

आगरा, 2 अक्टूबर 2019 (नवनीश रोतेला)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री (उत्तर प्रदेश) अखिलेश यादव द्वारा उत्तर प्रदेश के समस्त तहसीलों पर आयोजित भ्रष्टाचार, महंगाई, किसान, बेरोजगारी, डीजल की बढ़ती कीमत, रोड की खस्ता हालत, प्रदेश में हो रहे बलात्कार और हो रही हत्याओं की समस्याओं को लेकर धरना आयोजित किया गया। इसी क्रम में आगरा सदर तहसील निवर्तमान महानगर अध्यक्ष चौधरी वाजिद निसार जी के नेतृव में योगी सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया गया।

 

Samajwadi Party

 

चौधरी वाजिद निसार जी ने बताया प्रदेश में बिगड़े हालातों से जनविरोधी नीतियों से जनता को अपने आप को असहाय महसूस करना पड़ रहा है, इसी संबंध में जनता के पक्ष में 12 सूत्री मांगों का ज्ञापन आज महामहिम उत्तर प्रदेश राजपाल जी के नाम ज्ञापन दिया। जो इस प्रकार है।

1. कमर तोड़ मंहगाई ( पेट्रोल डीजल रसोई गैस विधुत दरों में बेतहाशा वृद्धि आदि )
2.किसानो की समस्याये ( खाद बीज का अभाव कर्ज के बोझ से दबे किसानों द्वारा आत्महत्याऐ।
3. बेरोजगारी नोजवान निराश हताश बेकार
4. प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त , अपराधों में भारी बृद्धि चारो तरफ जंगलराज व्याप्त / फर्जी एनकाउंटर हो रहे हैं समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न विशेष वर्गो में हत्या की घटनाएं बड़ी हैं।
5. भ्र्ष्टाचार, भृष्ट तन्त्र की सरकार ऊपर से नीचे तक बिना रिश्वत कोई कार्य नही।
6. स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प
7. जौहर विश्वविद्यालय में राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा अत्याचार तत्काल बन्द हो सांसद मोहम्मद आजम खां के ऊपर लगे फर्जी मुक़द्दमे समाप्त किये जायें विधायक अब्दुल्ला आजम खां का उत्पीड़न एवं अवैध कार्यवाही पर रोक लगे।
8. महिलाओं के साथ छेड़खानी, बलात्कार बच्चियों के साथ दुष्कर्म ओर हत्या अपहरण की घटनाओं में बाढ़ आ गयी है।
9. अल्पसंख्यको पर फर्जी मुक़द्दमे लगाए जा रहे हैं उनका फर्जी एनकाउंटर भी हो रहा है अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न तत्काल रोक जाए।
10. अवस्थापना सुविधाओं / बिजली पानी, सड़क का अभाव।
11- भाजपा राज में प्रदेश का विकास कार्य ठप है समाजवादी सरकारी कार्य उपाय ही भाजपा सरकार अपना नाम दे रही है भाजपा के सभी दावे झूठे है।
12. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अनसूचित जाती/ अनसूचित जनजाति के छात्रों को निशुल्क प्रवेश प्रक्रिया एवम शुल्क प्रतिपूर्ति की व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है जिसको बहाल किया जाय।

आज के धरना प्रदर्शन में ये लोग रहे शामिल

पूर्व मंत्री शिव कुमार राठौर, पूर्व महानगर अध्यक्ष चौधरी वाजिद निसार, पूर्व कोषाध्यक्ष सौरभ गुप्ता, राहुल चतुर्वेदी, पूर्व पार्षद बबलू शरीफ, पूर्व छात्र सभा महानगर अध्यक्ष निर्वेश शर्मा, पूर्व उपाध्यक्ष किशन यादव, देवेंद्र यादव, पूर्व पार्षद मुकेश यादव, अनूप यादव, सुनील राठौर, दीपक शर्मा, सतीश चाहर, राकेश गौतम, मशरुर कुरेशी, कयामुद्दीन राईन, दयाराम गुप्ता आदि समाजवादी विचारधारा के लोग मौजूद रहे।