गुरुग्राम नामचर्चा घर में साध संगत ने गाया गुरुयश, धूमधाम से मनाया गया अवतार दिवस

138

 

गुरुग्राम, 17 अगस्त 2019 – मुड़ आ जा सतगुरू तू-मुद्दतां दी खड़ी उड़ीकां, दे दर्शन आजिज नूं-नित्त रो-रो मा रां चीकां…। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसा को समर्पित जब यह भजन शुरू किया गया तो संगत भाव-विभोर हो गई। बेहद ही वैरागय भरा यह भजन साध-संगत को भाव-विभोर करने के साथ उनमें सकारात्मकता का भी संचार कर गया। अभी तक तो लाखों लोगों ने इसे यू-ट्यूब के माध्यम से सुना था, लेकिन शनिवार को इसके गायक जब खुद गुरुग्राम में पहुंचे और यह भजन सुनाया।

शनिवार को यहां सेक्टर-56 में साउथ सिटी-2 स्थित डेरा सच्चा सौदा के नाम चर्चा घर में डेरा सच्चा सौदा के गद्दीनशीन संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी का जन्मदिवस मनाया गया। इस मौके पर पंजाब के सूफी सिंगर प्रेमी गुरप्रीत सिंह सिद्धू इंसा गुरु का यश गाने पहुंचे। नाम चर्चा की शुरुआत में तो स्थानीय प्रेमियों द्वारा बेहद ही बेहतरीन तरीके से भजनों के माध्यम से गुरूजी के जन्मदिवस की खुशियां मनाई। लडख़ड़ाते लफ्जों, टूटे सुर-ताल से भजनों की शुरुआत करने वाले प्रेमी अब एक तरह से गायक बन चुके हैं। बेशक उन्होंने इसे अपना प्रोफेशन न बनाया हो, लेकिन किसी प्रोफेशनल सिंगर से ये गायक कमतर नहीं कहे जा सकते। वर्षों से यहां और डेरा मुख्यालय में भजनों की सेवा देने वाले प्रेमियों की आवाज हर जगह जादू बिखेरती है। शनिवार को भी ऐसा ही हुआ। भाईयों के साथ बहनों ने भी शब्द-भजन गाकर गुरू यश गाया। इस मौके पर नाम चर्चा घर को रंगे-बिरंगे गुब्बारों से सजाया गया था। काफी संख्या में यहां संगत पहुंची और गुरूजी का जन्मदिन मनाया। मंच संचालन ब्लॉक भंगीदास श्याम सुंदर इंसा ने किया।

स्थानीय गायक प्रेमियों के बाद जब सूफी गायक गुरप्रीत सिंह सिद्धू को भजन के लिए आमंत्रित किया गया तो संगत ने नारे के साथ उनका स्वागत किया। श्री सिद्धू ने मशहूर हुआ भजन -मुड़ आ जा सतगुरू तू-मुद्दतां दी खड़ी उड़ीकां, दे दर्शन आजिज नूं-नित्त रो-रो मा रां चीकां…गाना शुरू किया तो सभी मंत्रमुगध हो गये। इस भजन के अलावा सिद्धू ने – नूरे जलाल है आ गया-सतगुरू प्यारा आ गया और अखियां रसभरियां असां नाल गुरां दे लाइयां…सुनाकर संगत के साथ गुरू का जन्मदिन मनाया। सूफी सिंगर सिद्धू अपने वैरागय के भजनों के माध्यम से यू-ट्यूब पर भी छाये हुये हैं। अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे गुरप्रीत सिद्धू का साध-संगत की ओर से धन्यवाद भी किया गया और साथ में यह भी उम्मीद जताई कि वे भविष्य में भी यहां पर आकर भजनों का रसपान कराते रहेेंगे।

Loading...