प्रधान सचिव अशोक खेमका ने जियोग्राफिक इनफार्मेशन सिस्टम लैब का किया निरीक्षण

172

Geographic Information Systems Lab

 

गुरूग्राम, 16 सितंबर 2019। विज्ञान एवं तकनीकी विभाग के प्रधान सचिव तथा हरियाणा स्पेस एप्लीकेशन सेंटर (हरसक) के चेयरमैन अशोक खेमका ने आज गुरूग्राम जिला में चल रहे हरसक कार्यालय का निरीक्षण किया और यहाँ हरसक द्वारा चलाई जा रही गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने हरसक कार्यालय में चलाई जा रही ज्योग्राफिक इंफोरमेशन सिस्टम (जीआईएस) लैब भी देखी।

आज श्री खेमका का गुरूग्राम जिला में दौरा कार्यक्रम था। गुरूग्राम पधारने पर हरसक के सीनियर साईंटिस्ट डा. सुल्तान सिंह तथा हरसक के डायरेक्टर डा. वी एस आर्या ने उनका स्वागत किया। डा. सुल्तान सिंह ने श्री खेमका को जीआईएस लैब के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि यह टेक्नोलॉजी का युग है और समय के अनुरूप जीआईएस मैपिंग की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि जीआईएस मैपिंग के माध्यम से मेरी फसल-मेरा ब्यौरा सहित विभिन्न योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन पर काम किया जा रहा है। मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना में जीआईएस मैपिंग का प्रयोग हो रहा है जिससे पता लगाया जा सकता है कि किसान ने अपने खेत में कौन सी फसल की बिजाई कर रखी है। जीआईएस मैपिंग ग्राउंड लेवल रियलटी को दर्शाती है।

 

Geographic Information Systems Lab

श्री खेमका ने गुरूग्राम जिला के हरसक कार्यालय और जीआईएस लैब में किए जा रहे काम की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रकार का सैट अप प्रदेश के अन्य जिलों में भी होना चाहिए। उन्होंने इस प्रकार की लैब को प्रदेश के अन्य जिलों में विकसित करने को लेकर भी डा. सुल्तान सिंह से चर्चा की। उन्होंने कहा कि हरसक कार्यालय और जीआईएस लैब ऐसे स्थान पर बनी होनी चाहिए जहां जिला प्रशासन से नजदीक कनेक्टिविटी हो ताकि जिला उपायुक्त प्रशासन के विभिन्न कार्यों में इस टेक्नोलॉजी का लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि जीआईएस मैपिंग के माध्यम से योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन में भी आसानी होगी।

श्री खेमका ने कहा कि यह तकनीक अत्यंत प्रभावशाली है और इस तकनीक का लाभ अन्य परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए करके बेहतर रिजल्ट प्राप्त किये जा सकते है। उन्होंने कहा कि परियोजनाओं की बेहतर प्लानिंग करने में यह अत्यंत लाभदायी है। उन्होंने गुरूग्राम जिला मे हरसक कार्यालय की गतिविधियों और यहाँ की जीआईएस लैब में किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए इन्हें आगे बढ़ने के लिए शुभकामनाएं भी दी।

Loading...