भिवानी जिले में गरीब जरूरतमंद व्यक्तियों के समक्ष नहीं रहेगी भोजन की समस्या

93

food

 

भिवानी, 10 अप्रैल 2020 (सुरेन्द्र गिल) – कोविड-19 महामारी के चलते लागू किए गए लॉक डाउन के दौरान जिला में जरूरतमंद गरीब वर्ग के लोगों को अब भोजन की दिक्कत नहीं रहेगी। प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक विभाग द्वारा जिला में उपायुक्त अजय कुमार के मार्गदर्शन में रिकार्ड अल्प समयावधि जिला में गरीबी से रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले, एएवाई व प्राथमिक परिवारों मेें शामिल राशन कार्ड धारकों में करीब 92 प्रतिशत लाभपात्रों के घर-घर जाकर राशन का वितरण कर दिया गया है। शेष का वितरण अभी किया जा रहा है, जो शीघ्र ही पूरा हो जाएगा।

खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार जिला में जन वितरण प्रणाली के तहत राशन का लाभ लेने वाले कुल एक लाख 36 हजार 813 राशन कार्ड धारक हैं। इनमें एएवाई के 14 हजार 23, स्टेट बीपीएल के 24 हजार 764, सेंटर बीपीएल के 24 हजार 67 और अन्य प्राथमिक परिवार 73 हजार 959 शामिल हैं। राशन वितरण के लिए जिला में कुल 453 राशन डिपो हैं, जिनमें शहरी क्षेत्र में 96 और ग्रामीण क्षेत्र में 357 डिपो हैं। जिला में अब तक 2944 मी.टन गेहूं, 46 मी. टन चीनी, 42 हजार 643 लीटर सरसों का तेल वितरित किया जा चुका है। सरकार के निर्देशानुसार उपायुक्त अजय कुमार के मार्गदर्शन में जिला में अब तक करीब 92 प्रतिशत कार्ड धारकों को राशन वितरित किया जा चुका है। राशन वितरण का कार्य अभी जारी है, जो शीघ्र ही पूरा हो जाएगा।

400 वाहन लगे हैं राशन वितरण

राशन वितरण कार्य गली-गली जाकर घर-घर किया जा रहा है। हर लाभपात्र को राशन मुहैया करवाया जा रहा है। राशन वितरण कार्य में करीब 400 गाडियां लगी हैं। इन गाडियों पर चालक सहित तीन-तीन हेल्पर काम रहे हैं। गाडियों के चालकों द्वारा भी राशन वितरण कार्य में पूरा सहयोग किया जा रहा है। राशन वितरण में सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। बड़ी ही सावधानी के साथ राशन वितरण का कार्य किया जा रहा है।

इस प्रकार होता है राशन वितरण

-एएवाई कार्ड धारक को- प्रति कार्ड 35 कि.ग्रा. गेहूं, एक किलो चीनी और दो ली. सरसों का तेल दिया जाता है।
-स्टेट व सेंटर बीपीएल को- पांच कि.ग्रा.गेहूं प्रति सदस्य, एक चीनी व दो ली. तेल प्रति र्काउ दिया जाता है।
– अन्य प्राथमिक परिवार को – पांच कि.ग्रा. गेहूं प्रति कार्ड के हिसाब से दिया जाता है।

इस बारे में उपायुक्त अजय कुमार ने बताया कि खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक कार्यालय द्वारा राशन वितरण का कार्य किया जा रहा है। राशन वितरण का कार्य 92 प्रतिशत हो चुका है तथा शेष का शीघ्र संपन्न हो जाएगा। उन्होंने बताया कि राशन वितरण में खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा और उसकी पूरी टीम ने सराहनीय कार्य किया है।

इस बारे में जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा ने बताया कि उपायुक्त अजय कुमार के निर्देशानुसार जिला में जनवितरण प्रणाली के तहत लाभपपात्रों को राशन वितरित किया जा रहा है। उनके विभाग की पूरी टीम राशन वितरण का कार्य कर रही है। सभी डिपू धारकों ने राशन वितरण में पूरी मेहनत की है।