‘प्लेज फॉर लाइफ-टोबैको फ्री यूथ ’ अभियान से शिक्षण संस्थान होंगे तंबाकू मुक्त

74

Tobacco Free

 

नई दिल्ली, 6 सितम्बर 2019। देश की राजधानी के दिल्ली विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के विद्यार्थियेां ने शपथ लिया कि वे प्रतिवर्ष दिल्ली में 19 हजार लोगों की तंबाकू सेवन से होने वाली बीमारियेां से जो मौत हो रही है, उसको रोकने में सक्रिय भूमिका निभांएगे।

दिल्ली विश्वविद्यालय के एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी प्रमेंद्र सिंघल ने दिल्ली विश्वविद्यालय की 88 एनएसएस इकाइयों में 8800 स्वंयसेवक है, जो संबध हैल्थ फाउंडेशन (एसएचएफ) व विश्वविद्यालय द्वारा विभिन्न महाविद्यालयों में ‘‘ प्लेज फॉर लाइफ-टोबैको फ्री यूथ अभियान ’ के तहत् विभिन्न गतिविधियेां के माध्यम से शिक्षण संस्थाअेां को तंबाकू मुक्त बनाने व युवाअेां को इस प्रकार के नशों से दूर रखने में अपना योगदान देंगे।

उन्होने बताया कि, ‘ दिल्ली में 80 से अधिक बच्चे प्रतिदिन तम्बाकू का सेवन शुरू करते हैं, जो कि हमारे लिए चिंता का विषय है।’’ हमारी युवा पीढ़ी ऐसे नशीले पदार्थों का शिकार हेाकर पथभ्रष्ट हो रही है, इससे युवाओं व बच्चों के शारीरिक व मानसिक विकास पर भी असर पड़ रहा है।

उन्होने में प्लेज फॉर लाइफ-टोबैको फ्री यूथ ’अभियान के आगाज अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के विद्यार्थियेां से आव्हान किया कि हम सब मिलकर सुनिश्चित करें कि हमारा कॉलेज परिसर तम्बाकू मुक्त रहे और हर साल दिल्ली में 19000 लेागों की जान लेने वाली इस महामारी को दूर करने में अपना योगदान देंगे। ”ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे के अनुसार, दिल्ली में 25 लाख तंबाकू का सेवन करते हैं।

 

Tobacco Free

 

राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) विद्यार्थियेां ने ली शपथ

संबध हैल्थ फाउंडेशन (एसएचएफ) व दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा नरेद्र देव महाविद्यालय, दयाल सिंह महाविद्यालय, शहीद भगत सिंह महाविद्यालय एंव डीयू कैंपस में राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के स्वंयसेवकों व शिक्षकों को तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पादेां को न लेने की शपथ दिलाई। इस शपथ के बाद सभी अधिकारीयों व युवाओं ने हमेशा इस संकल्प को याद रखने व युवाओं को इससे बचाने का भी भरोसा दिलाया। सभी प्रतिज्ञा की कि वे अपने जीवन में कभी भी तंबाकू को नहीं छूएंगे और अपने दोस्तों और परिवारों को ऐसा ही करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इसके साथ ही एनएएसएस के स्वंयसेवक अपने स्तर पर तंबाकू से होने वाले दुष्प्रभावों से युवाअेां को जागरुक करेंगे।

इसमें एनएसएस के आचार्य नरेंद्र देव कालेज, कालकाजी की कार्यक्रम अधिकारी डा.मनीषा जैन, दयाल सिंह महाविद्यालय, लोधी रोड़ के डा.राजेश के.अभय, शहीद भगत सिंह महाविद्यालय शेख सराय के डा.राजीव सिन्हा के नेत्त्व में यह कार्यक्रम आयेाजित किये गए। जिसमें 400 से अधिक स्वयंसेवकों ने भाग लिया।

कार्यक्रम अधिकारियों ने संकल्प लिया कि वे महाविद्यालय के स्वयंसेवक कॉलेज में और साथ ही समुदाय में तंबाकू विरोधी गतिविधियों का संचालन कराएंगे साथ ही तंबाकू के दुष्प्रभाव से आम जनता को रुबरु कराएंगे। इस दिशा में स्वयं प्रतिज्ञा लेना कारण के प्रति हमारी प्रतिबद्धता है।

इन कार्यक्रमों में मैक्स हॉस्पिटल के कैंसर सर्जन और वॉयस ऑफ टोबैको विक्टिम्स (वीओटीवी) के पैटर्न डॉ. सौरभ गुप्ता ने तंबाकू सेवन के स्वास्थ्य पर होने वाले खतरों के बारे में चर्चा की। उन्होंने बताया कि कैसे, न केवल रोगी, बल्कि पूरा परिवार तंबाकू के कारण होने वाले कैंसर के कारण प्रभावित होता है। उन्होंने कहा, “तंबाकू से होने वाली मौत एक मात्र रोके जाने वाले कारणों में से एक है ‘ प्लेज फॉर लाइफ-टोबैको फ्री यूथ ’अभियान में रोकथाम की गतिविधियाँ इस नुकसानदेह सार्वजनिक स्वास्थ्य मुद्दे का एकमात्र उत्तर है। दुर्भाग्य से, 50 प्रतिशत मुंह के कैंसर के मरीज जो सर्जरी से गुजरते हैं वे एक वर्ष से अधिक समय तक जीवित नहीं रहते। हम डॉक्टर के रूप में तो इसका इलाज कर सकते हैं लेकिन आप सभी इन मौतों को रोक सकने में अह्म भूमिका निभा सकतें हैं।”

गौरतलब है कि वर्ष 2019 जून माह में, राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) ने दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में तम्बाकू सेवन के कारण होने वाले खतरनाक सार्वजनिक स्वास्थ्य मुद्दों के समाधान के लिए ‘ प्लेज फॉर लाइफ-टोबैको फ्री यूथ ’अभियान शुरू किया है। इसी दौरान सभी कार्यक्रम अधिकारियों ने अपने स्वयं के कॉलेज परिसरों को तम्बाकू मुक्त बनाने के लिए तंबाकू विरोधी गतिविधियों की योजना बनाई थी। इस कार्यशाला में महाविद्यालय के एनएसएस के विद्यार्थियेां, शिक्षकों व अधिकारियो ने भाग लिया।

Loading...