किसी ने नहीं सोचा था एक कार्टूनिस्ट कभी राजनीति का बादशाह बन जायेगा

77

बाल ठाकरे

 

17 नवंबर 2012 का ही वो दिन था, जब मुंबई समेत पूरे देश में शोक की लहर फैल गई थी। 86 साल के शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे का निधन मुंबई में उनके निवास मातोश्री में दोपहर करीब साढ़े तीन बजे हुआ था।

बाल ठाकरे ने अपने करियर की शुरुआत मुंबई के एक अंग्रेजी दैनिक ‘द फ्री प्रेस जर्नल’ के साथ बतौर कार्टूनिस्‍ट की थी। साल 1960 में बाल ठाकरे ने कार्टूनिस्‍ट की नौकरी छोड़ी और अपना राजनीतिक साप्‍ताहिक अखबार मार्मिक निकाला। बाल ठाकरे के कार्टून ‘टाइम्‍स ऑफ इंडिया’ में हर रविवार को छपा करते थे।

उनका जन्‍म 23 जनवरी 1926 को एक मराठी परिवार में हुआ था। उनका असली नाम बाल केशव ठाकरे था। उन्हें हिंदू हृदय सम्राट के नाम से भी जाना जाता है। उनके बारे मेें किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि एक कार्टूनिस्ट कभी राजनीति का बेताज बादशाह बन जाएगा।

19 जून 1966 को शिवसेना का गठन हुआ। शिवसेना का गठन मुंबई के राजनीतिक और व्‍यावसायिक परिदृष्‍य पर महाराष्‍ट्र के लोगों के अधिकार के लिए किया गया था। शिवसेना का शाब्दिक अर्थ ‘शिव की सेना’ है। शिव से अर्थ महान मराठा छत्रपति शिवाजी से है। अब वर्तमान में बाल ठाकरे के बेटे उद्धव ठाकरे पार्टी की कमान संभाल रहे हैं।

बाल ठाकरे की पत्‍नी का नाम मीना ठाकरे था, जिनका 1996 में निधन हो गया। उनके तीन बेटे स्‍वर्गीय बिंदुमाधव, जयदेव और उद्धव ठाकरे हैं। उनके बड़े बेटे बिंदुमाधव ठाकरे की एक सड़क दुर्घटना में 20 अप्रैल 1996 को मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर मौत हो गई थी।

Loading...