सर्दियों में रोड सेफ्टी के लिए अतिरिक्त उपायुक्त एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण सचिव मोहम्मद इमरान रजा ने की बैठक

97

road safety

 

गुरुग्राम, 1 नवंबर 2019 – अतिरिक्त उपायुक्त एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण के सचिव मोहम्मद इमरान रजा की अध्यक्षता में रोड सेफटी की बैठक की गई, जिसमें सडक़ दुर्घटनाओं को रोकने संबंधित बिंदुओं पर कार्यवाही करने बारे संबंधित विभागों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि सर्दी में धुंध के मौसम में सडक़ हादसे बढऩे की संभावना रहती है। हादसे का एक कारण यह भी होता है कि अधिकतर वाहनों पर किसी तरह की रिफ्लेक्टर टेप या लाइट नहीं होती। इन वाहनों में ट्रक, डंपर, साइकिल व ट्रैक्टर ट्रॉली की संख्या अधिक रहती है। उन्होंने कहा कि इन हादसों को रोकने के लिए सडक़ों पर पेंट-पट्टी, कैटआई, रिफ्लेक्टिव टेप, साइन बोर्ड आदि लगवाना सुनिश्चित किया जाए।

अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि आने वाले दिनों में जिला के सभी सरपंचों, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी एवं अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर विभिन्न तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। जिन कार्यक्रमों में सभी को रिफ्लेक्टिव टेप एवं रिफ्लेक्टिव लाइट आरटीए कार्यालय से निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएंगी। जिसकी मदद से वह सभी सडक़ हादसों को रोकने में एक दूसरे कि मदद करेंगे।

उन्होंने कहा कि जिला के सभी फ्लाईओवर और अंडरपास पर रिफ्लेक्टिव टेप एवं लाइट लगाई जाएंगी जिससे धुंध के समय वाहन चलाने में आसानी हो। अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा ने कहा कि जिला में बहुत सी अहम सडक़े है जहा यातायात 24 घंटे चलता है ऐसे में यह सुनिश्चित रहे की सभी सडक़ें पूरी तरह से दुरस्त की जाएं। यदि समय पर सडक़ों की मरम्मत का कार्य पूरा हो गया तो आम जनता के लिए यह सुरक्षित साबित होंगी।

उन्होंने बैठक में राजीव चौक, इफको चौक, अतुल कटारिया चौक, मस्जिद चौक, सिग्नेचर चौक, क्रासिंग, पडेस्टरियन क्रासिंग, सेक्टर 17-18, खांडसा रोड, राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर-48 सहित सभी स्ट्रीट लाइट, सडक़ समतल करने सहित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की। साथ ही सभी सडक़ों पर आवश्यक सांकेतिक चिन्ह भी अनिवार्य रूप से लगाए जाएं। उन्होंने कहा कि सभी जरूरत अनुसार सडक़ दुर्घटनाओं को रोकने के लिए रोड़ सेफटी एसोसिएट के साथ बैठक कर एक्शन प्लान बनाए। उन्होंने कहा कि जिला में जिन स्थानों पर सडक़ दुर्घटनाएं अधिक होती हैं ऐसे ब्लैक स्पॉट के लिए अलग से प्लानिंग करें ताकि सडक़ दुर्घटनाएं कम से कम हों और लोगों को हादसों में अपनी जान ना गवानी पड़े।

इस बैठक में पुलिस एसीपी अखिल कुमार, वन विभाग से राकेश कुमार, जीएमडीए से एचएस खेरा सहित कई अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Loading...