महाराजा अग्रसेन की शासन नीतियां प्रेरणादायक : अनिता अग्रवाल

277

anita aggarwal

 

गुरुग्राम, 29 सितम्बर 2019। विधायक उमेश अग्रवाल की धर्मपत्नी एवं धर्म ध्वजा यात्रा संघ की अध्यक्ष श्रीमती अनीता लूथरा अग्रवाल का कहना है कि महाराज अग्रसेन समाजवाद के अग्रदूत थे। उनकी शिक्षा और प्रेरणा पर चलते हुए अग्रवाल समाज ने न केवल इस विचारधारा को आगे बढाया बल्कि समाज और देश के विकास में सबसे अधिक योगदान दिया।

प्रथम नवरात्र पर महाराजा अग्रसेन जयंती पर अग्रसेन चौक पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए श्रीमती अनीता अग्रवाल ने कहा कि यह महाराजा अग्रसेन के दिखाए मार्ग का ही प्रतिफल है कि आज देश में कुल आबादी का करीब एक प्रतिशत होने के बावजूद सर्वाधिक आयकर अग्रवाल समाज के लोगों द्वारा जमा कराया जाता है। उन्होंने कहा कि सामाजिक समरसता बनाए रखने में भी सबसे बड़ा योगदान अग्रवाल का है।

हरियाणा प्रदेश वैश्य महासम्मेलन की महिला शाखा की प्रदेश महासचिव श्रीमती अनीता अग्रवाल ने कहा कि सामाजिक एवं धार्मिक कार्यों में साठ फीसदी से अधिक हिस्सा अग्रवंशियों द्वारा दिया जाता है। देश के पचास हजार से अधिक मंदिर एवं तीर्थ स्थलों के अलावा करीब 12 हजार गौशालाओं का संचालन अग्रवाल समाज द्वारा किया जाता है। उन्होंने कहा कि ये सब प्ररेणा महाराजा अग्रसेन द्वारा ही दी गई।

 

Anita Aggarwal

 

धर्म ध्वजा यात्रा संघ की अध्यक्ष श्रीमती अनीता लूथरा अग्रवाल ने कहा कि महाराजा अग्रसेन की समाजवाद की शिक्षा का केंद्र एवं राज्य सरकार ने भी सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार महाराज अग्रसेन के सम्मान में 14 सितंबर 1976 को 25 पैसे का डाक टिकट जारी किया। भारत सरकार ने 1995 में दक्षिण कोरिया से 350 करोड़ रूपये की लागत से खरीदे गए एक विशेष तेल वाहक पोत का नाम महाराजा अग्रसेन रखा। इस पोत की क्षमता 18 लाख टन है। राष्ट्रीय राजमार्ग-10 का अधिकारिक नाम श्री महाराज अग्रसेन मार्ग है।

श्रीमती अनीता अग्रवाल ने कहा कि महाराज अग्रसेन की राजधानी रहे अग्रोहा (हिसार जिला) में बने महाराज अग्रसेन मंदिर का उद्घाटन 31 अक्टूबर 1982 को हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री भजनलाल ने किया।

उन्होंने कहा कि आज के दिन हम सबको उनकी शिक्षाओं और दिखाए मार्ग पर इसी प्रकार चलते रहने और उनके समाजवाद के आदर्श का निरंतर विस्तार करने का संकल्प लेना चाहिए।

इस अवसर पर उनके साथ वैश्य महासम्मेलन से जुड़ी निशी सिंघल, मीना गर्ग, मीनाक्षी गुप्ता, क्षमा गर्ग, मीना मित्तल, अंजू गुप्ता, रितु महेश्वरी, दया गुप्ता, कंचन गुप्ता, अनिता सिंगला, सरला गुप्ता, बबली मित्तल, अनीता मोदी, ऊषा गुप्ता और आशा गुप्ता सहित प्रमुख अग्र महिलाएं मौजूद थीं।