ट्रेड यूनियन कॉउंसिल-जनपंचायत की तरफ से विधानसभा चुनाव के लिए कुलदीप जांघू ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामंकन पत्र भरा

186

Kuldeep Janghu

 

गुरुग्राम, 4 अक्टूबर 2019। गुरुवार को ट्रेड यूनियन कॉउंसिल-जनपंचायत की तरफ से गुरुग्राम विधानसभा से कुलदीप जांघू का निर्दलीय प्रत्यासी के रूप में नामांकन किया है। नामांकन के बाद कुलदीप जांघू ने अपने सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने फूलमालाओं से स्वागत किया तथा उनके साथ चुनावी मामले पर बातचीत की। इस मौके पर कुलदीप जांघू ने कहा कि आज श्रमिकों सहित समस्त कमेरे वर्ग की सुनने वाला कोई नहीं है, दो दशक से कर्मचारी बेहाल हैं, ठीक उसी तरह गुरुग्राम वाशियों को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं, जबकि हरियाणा सरकार को अकेले गुरुग्राम से करीब 55% राजस्व जाता है। श्रमिकों से सींचा गुरुग्राम आज विश्व मे अपनी जगह बना पाया है, लेकिन जनता की जिंदगी नारकीय है।

 

kuldeep janghu

 

आज गुरुग्राम की जनता झूठे वादों से पूरी तरह से त्रस्त हो चुकी है। पिछले तीन सरकारों ने यहां से पैसा ही बटोरने का काम किया है, यदि यहां के विधायक की बात करें तो उन्होंने पूरे पांच साल अपनी गाढ़ी कमाई पर ध्यान देने के लिए अवैध कॉलोनियां काटी हैं। जनहित में कार्य न करके निजी हित में कार्य किये हैं, सीवर उफान मार रहे हैं, हल्की बारिश में भी गुरुग्राम लबालब हो जाता है, सड़कें टूटी हुई है, ईएसआई, सामान्य हस्पताल, स्कूल की हालत से आप वाकिफ हैं कि जनता को क्या क्या परेशानी हो रही है। ऐसे में हमने ये फैंसला लेना कि हमने जनता के हित के लिए कार्य करने वाले व्यक्ति को जिम्मेदारी देनी है।

कुलदीप जांघू ने कहा कि मैंने पिछले दो दशक से जनता के बीच रहकर जनहित के मुद्दों पर कार्य किये हैं, पिछले 9 वर्ष से श्रमिकों की सेवा के की जिम्मेदारी सम्भाली हुई है। उन्होंने सभी पार्टियों पर तंज कसते हुए खुली चुनौती देते हुए कहा कि सबको एक मंच पर बुलाकर बहस करें कि उन्होंने 20 वर्षों में क्या किया है और हमने क्या किया है। जांघू ने कार्यकर्ताओं को अपने सम्बोधन में कहा कि सबको जोड़ो, सबसे बात करो, गलियों में नुक्कड़ सभाएं करो और कराओ। गुरुग्राम का विकसित शहरों की तर्ज पर विकास करना, कमेरे वर्ग के दुख-दर्द को दूर करना, गरीब व अमीर की गहरी खाई को कम करना, सबको हर स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराना हमारा मुख्य मुद्दा है। आपके प्यार, आशीर्वाद, सहयोग ये मुद्दे जनता तक लेकर जाने हैं तथा आश्वासन दें कि आपके 15 दिन की मेहनत से ही जीत 100% हासिल होगी और आपके हर दुख को अपनाया जाएगा, उसका निवारण किया जाएगा, हर मूलभूत सुविधाएं दिलवाने के लिए दृढ़ संकल्प हैं।