आईपीएल मैचों पर लटक रही है दिल्ली हाई कोर्ट की तलवार

159

दिल्ली : दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) से कहा कि अगर वह फिरोजशाह कोटला के ओल्ड क्लब हाउस को आगामी आईपीएल मैचों के लिए प्रसारक और उसके उपकरणों को समायोजित करने के लिए संरचनात्मक रूप से मजबूत होने का प्रमाणपत्र देता है तो फिर किसी भी तरह की दुर्घटना होने पर पूरी जिम्मेदारी इस स्थानीय निकाय की होगी। अदालत ने कहा कि अगर ढांचा गिर जाता है और किसी तरह के जानमाल का नुकसान होता है तो इसकी जिम्मेदारी निगम और इस स्टेडियम का स्वामित्व रखने वाले दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) की होगी।

डीडीसीए के अनुसार अगर ओल्ड क्लब हाउस का उपयोग प्रसारण उपकरण रखने और संबंधित व्यक्तियों के लिये नहीं किया जा सकता है तो फिर 23 अप्रैल से यहां होने वाले आईपीएल मैचों का आयोजन स्टेडियम में नहीं हो पाएगा। न्यायमूर्ति राजीव शकधर ने कहा, ‘आप ( डीडीसीए) या मैं विशेषज्ञ नहीं हैं। सरकारी एजेंसी (एसडीएमसी) को हस्ताक्षर करने होंगे। उन्हें पूरी जिम्मेदारी लेनी होगी। अगर इमारत गिरती है और यहां तक कि एक भी व्यक्ति घायल होता है या जान गंवाता है तो इसके लिए आप ही जिम्मेदार माने जाओगे।