मैं गरीबों के दर्द को भली-भांति समझता हूं, हमेशा उनके लिए संघर्ष करता रहूंगा : सज्जन ढुल

242

poor

 

कैथल, 5 फरवरी 2019 (कृष्ण प्रजापति) : समाजसेवी और किसान नेता सज्जन सिंह ढुल ने कहा कि वह गरीबों के दर्द को भली-भांति समझते हैं । इसलिए मैं हमेशा उनके लिए संघर्ष करता रहूंगा । उन्होंने कहा कि समाज सेवा ही उनका एकमात्र ध्येय है और राजनीति में आने का उनका मकसद एक शक्ति प्राप्त करने के बाद जनता की सेवा करने के लिए अहम कदम उठाए जा सकते हैं । ढुल ने कहा कि समाजसेवी की कोई जाति नहीं होती वह सभी के सहयोग और विकास में विश्वास रखता है । जनता ने मौका दिया तो उनकी उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बिना भेदभाव के हल्के में विकास कार्य करेंगे । जनता से उन्हें जो प्यार मिलता है उसके लिए वह सदैव उनके ऋणी रहेंगे और किसान वर्ग तथा युवा अच्छी तरह जानते हैं कि उनका सच्चा हितैषी कौन है । ढुल ने कहा कि भारत का आने वाला भविष्य युवा वर्ग है और युवा वर्ग को राजनीति तथा समाज सेवा में आकर जनता के हित में कार्य करना चाहिए और लोगों की समस्याओं को दूर करवाने के लिए अधिकारियों तक उनकी बात पहुंचानी चाहिए ।

उन्होंने कहा कि राजनीति में “30 प्रतिशत सीट 35 वर्ष से कम युवाओं के लिए” आरक्षित होनी चाहिए ताकि युवाओं को राजनीति में आने का मौका मिले।

उन्होंने कहा कि आजकल युवा राजनीति से दूर हट रहे हैं। ऐसा कुछ नेताओं के कारण है जो कि अपने पद का दुरुपयोग करते हैं और समाजसेवा से ज्यादा महत्व स्वयं को मजबूत बनाने में लगाते हैं। कम पढ़े लिखे लोग राजनीति में आकर अपने तरीके से राज चलाते हैं जो सही नहीं है। उन्होंने कहा कि राजनीति में ईमानदार व स्वच्छ छवि वाले युवाओं की जरूरत है जिनमें कुछ कर गुजरने का जज्बा हो। उन्होंने कहा कि युवाओं के हितों की रक्षा और रोजगार को सुनिश्चित करने के लिए हम सबको आगे आकर निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि आर्थिक रूप से कमजोर युवा भी कोचिंग ले सकें और अपना रोजगार प्राप्त कर सकें।