हरियाणा के श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री अनूप धानक ने गुरुग्राम में श्रमिकों की स्थिति की समीक्षा की

242

Anup Dhanak

 

गुरुग्राम, 6 अप्रैल 2020 – हरियाणा के श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक ने आज गुरुग्राम पहुंचकर श्रमिकों का हालचाल जाना और श्रमिकों के रहने के स्थानों पर जाकर उनसे बातचीत की। श्री धानक ने मजदूरों से कहा, चिंता ना करें, आप में से किसी की नौकरी नहीं जाएगी, सभी का रोजगार बना रहेगा। उन्होंने ठेठ हरियाणवी अंदाज में कहा, मेरे मजदूर भाइयो, इस संकट की घड़ी में घबराइयो ना, सरकार आपके साथ खड़ी है। साथ ही राज्य मंत्री ने सभी मजदूरों तथा श्रमिकों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए एक दूसरे के बीच कम से कम एक से डेढ़ मीटर का फासला रखने अर्थात सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील की।

 

Anup Dhanak

 

राज्यमंत्री अनूप धानक आज गुरुग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में आने से पहले ही उन स्थानों पर गए जहां पर ज्यादा संख्या में श्रमिक परिवार रह रहे हैं। वहां पर राज्यमंत्री ने श्रमिकों से खुलकर बातचीत की। उनकी समस्याएं पूछी और सारा जायजा लेने के बाद लोक निर्माण विश्राम गृह में श्रम विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों से श्रमिकों की स्थिति के बारे में विस्तार से चर्चा की और निर्देश दिए कि किसी श्रमिक को नौकरी से ना निकाला जाए, यह ध्यान रखें। उन्होंने मजदूरों के रहने के स्थानों का डिकॉन्टेमिनेशन करने अर्थात संक्रमण मुक्त करने के आदेश भी दिए हैं।

अधिकारियों के साथ समीक्षा के दौरान राज्य मंत्री अनूप धानक ने ये निर्देश भी दिए कि श्रम विभाग के अधिकारीगण यह सुनिश्चित करें कि लॉक डाउन की अवधि के दौरान कोई भी श्रमिक परिवार भूखा ना रहे, सभी को खाना मिले। राज्य मंत्री को बताया गया कि गुरुग्राम जिला में प्रशासन द्वारा 77 शेल्टर होम बनाए गए हैं, जहां पर प्रतिदिन दो बार खाना दिया जा रहा है। इसके अलावा भी फूड कैंप चलाए जा रहे हैं जहां पर जाकर जरूरतमंद लोग खाना खाकर वापस अपने रहने के स्थान पर आ सकते हैं।

Anup Dhanak

 

राज्यमंत्री को बताया गया कि गुरुग्राम जिला में स्वयंसेवी संस्थाओं, कम्पनियों, ग्राम पंचायतों तथा दानवीर लोगों के सहयोग से जिला प्रशासन द्वारा हर रोज 172000 से ज्यादा फूड पैकेटों का वितरण जरूरतमंद लोगों में किया जा रहा है। यही नहीं, गुरुग्राम में 71 कंस्ट्रक्शन साइटों पर रह रहे लगभग 16500 वर्करों को एंपलॉयर द्वारा खाना तथा राशन दिया जा रहा है। समीक्षा के दौरान राज्य मंत्री को श्रम विभाग के अधिकारियों द्वारा यह भी बताया गया कि राज्य सरकार के निर्देश अनुसार गुरुग्राम में आवश्यक सेवाओं से संबंधित फैक्टरियों में 70 साइटों पर काम चल रहा है जिनमें लगभग 2000 लोग प्रतिदिन काम कर रहे हैं। इनमें मुख्य रूप से फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर, टेलीकॉम, खाना पकाने आदि से जुड़े काम किये जा रहे हैं। श्री धानक गुरुग्राम में किये गये प्रबंधों से प्रभावित हुए और श्रम विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे यह भी सुनिश्चित करें कि श्रमिकों की बस्ती में चलाई जा रही आवश्यक वस्तुओं की दुकान पर उनसे प्रशासन द्वारा निर्धारित रेट से ज्यादा रेट ना वसूले जाएं।

इसके अलावा, श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री ने श्रम विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे श्रमिकों तथा उनके परिवारों से कहें, कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए जहां तक संभव हो अपने घरों के अंदर ही रहे और अगर बाहर जाना भी पड़े तो एक दूसरे के बीच कम से कम 3 से 4 फुट का फासला जरूर रखें। उन्होंने कहा कि हमारे मजदूर भाई कम पढ़े लिखे होते हैं, इसलिए उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग तथा बीमारी से बचाव के तमाम तरीके अपनाने और सावधानी बरतने के बारे में जागरूक करें।

इस मौके पर उप श्रम आयुक्त दिनेश कुमार तथा रमेश आहूजा, औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक रविंद्र मलिक, सुधीर कादियान व रमेश सिंह उपस्थित थे।