महामारी के बीच डीजल पेट्रोल के दामों ने जनता की कमर तोड़ी : पंकज डावर

119

Pankaj Dawar

गुरुग्राम, 28 जून 2020 (मनप्रीत कौर) रोजाना बढ़ रहे डीजल और पेट्रोल के दामों पर कांग्रेस भाजपा पर पूरी तरह से हमलावर है। कांग्रेस अब बढ़ती महंगाई के बीच बढ़ते डीजल पेट्रोल के दामों पर भाजपा सरकार को हर तरफ से घेर रही है। यही नहीं कोरोना महामारी के बीच मोदी सरकार की नाकामियों को भी कांग्रेस गिनवा रही है इसी कड़ी में हरियाणा व्यापार सेल के चेयरमैन पंकज डावर ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बीच लोगों को उपचार संबंधित व्यवस्थाएं देने के नाम पर भाजपा सरकार की ओर से हाथ खड़े किए जा चुके हैं। गुरुग्राम जैसे शहर में कोरोना बीमारी के नाम पर लोगों को किस तरह से लूटा जा रहा है। यह किसी से छुपा नहीं है। सरकारी अस्पतालों में किस तरह का आलम है। यह तो जो मरीज अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। वह बखूबी सोशल मीडिया के जरिए जनता के सामने सच्चाई को रख रहे हैं। इसी बीच मोदी सरकार द्वारा पैट्रोल से भी ज्यादा डीजल के दाम बढ़ाकर जो इतिहास बनाया है। जनता इसे कभी भूलेगी नहीं। पंकज डावर ने कहा कि आज कोरोना को लेकर हरियाणा प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। जिन प्रदेशों में भाजपा की सरकारें हैं। वहां हालात सबसे अधिक खराब है। कारण यह है कि भाजपा नेता जमीन पर कोई काम नहीं करना चाहते। बयान बाजी में जनता को उलझा कर सिर्फ राजनीतिक रोटियां तोड़ने का काम करते हैं। पंकज डावर ने कहा कि मोदी सरकार कभी सेना के नाम पर राजनीति करती है। तो कभी हिंदू मुस्लिम और मंदिर मस्जिद के नाम पर राजनीति करके जनता को आपस में ही लड़ाने का काम करती है। आज भाजपा की सरकार में देश कितने पीछे जा रहा है। यह सबके सामने है। पंकज डावर ने कहा कि व्यापारियों के काम पूरी तरह से ठप पड़े हुए हैं। कंपनियां बंद हो रही है। नए रोजगार के नाम पर सरकार ने चुप्पी साध रखी है। शहरों से कामगारों का पूरी तरह से पलायन हो चुका है। मौजूदा जो हालात हैं उससे लगता है कि व्यापार सुधरने में अभी सालों साल लग सकते हैं। पंकज डावर ने कहा कि कोरोना काल में लोगों को उबारने के लिए मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ के बजट का ऐलान किया था। वह 20 लाख करोड़ कहां है। अगर वह 20 लाख करोड़ सचमुच जनता के बीच या जनता के लिए होता तो आज की परेशानी लोगों के सामने नहीं होती। इन परेशानियों को देखते हुए अब कांग्रेस सड़कों पर आने को मजबूर होगी और आगामी दिनों में सड़कों पर प्रदर्शन के साथ-साथ जिला उपायुक्त के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर विरोध दर्ज कराएगी।