दिल्ली का सियासी पारा आसमान पर, संभावित उपचुनावों के मद्देनज़र कांग्रेस की तैयारी

192

दिल्ली, 21 जनवरी (ब्यूरो) – लाभ का पद रखने को लेकर आप के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की चुनाव आयोग की सिफारिश के बाद राजनितिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। ऐसे में कांग्रेस उत्साहित है और दिल्ली कांग्रेस ने संबध विधानसभा क्षेत्रों में संभावित उपचुनावों के लिए योजना बनानी आज शुरू कर दी है। दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अजय माकन और कांग्रेस की प्रदेश इकाई प्रभारी पीसी चाको एक बैठक में शरीक हुए। इसमें पार्टी पदाधिकारियों ने उभरते परिदृश्य और 20 विधानसभा क्षेत्रों में संभावित चुनावों के बारे में चर्चा की। बैठक में शरीक हुए पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की सिफारिश पर यह चर्चा केंद्रित रही। आने वाले दिनों में सभी 20 विधानसभा क्षेत्रों में सम्मेलन करने का फैसला किया गया। अब नज़रें इस बात पर हैं कि राष्ट्रपति चुनाव आयोग की सिफारिश पर कब मुहर लगाते हैं। गौरतलब है कि संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक राष्ट्रपति आयोग की अनुशंसा मानने को बाध्य हैं। विधायकों या सांसदों को आयोग्य घोषित करने की मांग वाली याचिकाओं पर अंतिम फैसला लेने से पहले राष्ट्रपति चुनाव आयोग की राय लेते हैं। चुनाव आयोग की राय के मुताबिक ही राष्ट्रपति इन याचिकाओं पर फैसला करते हैं। यह भी देखने वाली बात है कि क्या राष्ट्रपति आप विधायकों की जो याचिका दिल्ली हाई कोर्ट में सोमवार को सुनवाई के लिए लंबित है, उस पर सुनवाई के बाद फैसला लेंगे या फिर उससे पहले ?