सोशल मीडिया पर वायरल हो रही भाजपा कार्यकर्ता की मोदी से अपील, बन गई बीजेपी उम्मीदवार के गले की फांस

1667

BJP

 

गुरुग्राम, 16 अक्टूबर 2019 – हरियाणा विधानसभा चुनावों को लेकर 75 पार का नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी की टिकट वितरण के बाद मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सभी पैंतरे आजमा कर डेमेज कन्ट्रोल तो किया। लेकिन अब साइबर सिटी की सीट से बीजेपी उम्मीदवार के ऐतिहासिक पन्ने सोशल मीडिया पर इस कदर वायरल हो रहे हैं। अब नेता जी के पसीने छूटते दिखाई दे रहे हैं।

जी हाँ, एक भाजपा कार्यकर्ता ने प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि सन 2000 में वर्तमान उम्मीवार ने भाजपा का कार्यालय तक जला दिया था। जिस पर मोदी जी ने कहा था कि आपने पार्टी के कार्यालय नही मेरी माँ का घर जलाया है। उसी व्यक्ति को पार्टी का टिकट मिलने से कई कार्यकर्ताओं में भारी रोष है। आइये एक नजर डालते है सोशल मीडिया पर जंगल की आग की तरह फैल रही एक कार्यकर्ता की मामिर्क अपील। खास बात यह है कि इस अपील में उस समय की मीडिया कवरेज भी साथ मे वायरल हो रही है।

 

BJP

 

👇👇 एक अपील :-

माननीय प्रधान मंत्री जी से मेरी अपील

माननीय मोदी जी आप इस देश के प्रधानमन्त्री और मैं इस देश का एक साधारण नागरिक ! एक आम आदमी जो शुरू से ही भारतीय जनता पार्टी का हितेषी रहा हूँ। परन्तु मुझे इस बात का खेद है कि आज आपने गुरुग्राम विधानसभा से उस परिवार को टिकट दे दिया जिसने 30 जनवरी 2000 में, टिकट न मिलने पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय, फर्नीचर, अहम दस्तावेज को जलाया था। इस घटना में “परम पूजनीय श्यामाप्रसाद मुखर्जी व डॉ हेडगेवार जी के स्मृति” भी इस परिवार द्वारा जला दी गई थी। उस समय ये टिकट तिलक राज मल्होत्रा को दी गई थी। टिकट न मिलने पर आगजनी की कार्यवाही सीता राम सिंघला जी व उनके परिवार द्वारा करवाई गई थी।

31 जनवरी 2000, 11 अशोका रोड की इस घटना के बाद भाजपा गुरुग्राम के कार्यकर्ता व सीता राम सिंघला जी आपसे (मोदी जी) मिलने आये थे, उस समय मान्यवर आप हरियाणा के प्रभारी थे व वेंक्या नायडू जी पार्टी के महासचिव थे तब आपने यह शब्द बोले थे “आपने भाजपा कार्यालय नही जलाया बल्कि मेरी माँ का घर जलाया है” यह अपराध क्षमा योग्य नही है। कृपया आप हम कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करें।

भाजपा कार्यकर्ता

 

bjp

जी हां, यही वो अपील थी जिससे बीजेपी का गुरुग्राम से चेहरा बने नेता जी के चुनाव में संकट के बादल भी छा सकते हैं। लेकिन अब देखना ये होगा कि इस पोस्ट में कितनी सच्चाई है। लेकिन इतना जरूर है कि अगर ये अपील प्रधानमंत्री तक पहुंचती है। तो गुरुग्राम में एक बार फिर हाई प्रोफाइल राजनेतिक ड्रामा जरूर होने वाला है।

Loading...