एसोसिएशन की हुई बैठक, दवा कंपनियों के खिलाफ जताया रोष

197

सिरसा, 12 जून 2018 । हरियाणा मेडिकल रिप्रेज़ेंटटिव एसोसिएशन की एक बैठक प्रदेश उपाध्यक्ष विनय शर्मा की अध्यक्षता में श्री युवक साहित्य सदन में हुई। इस बैठक में उपस्थित दवा प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए महासचिव कुलवंत राय ने कहा कि दवा कंपनियों की ओर से निरंतर दवा प्रतिनिधियों को परेशान किया जा रहा है। इससे आहत देश में कई दवा प्रतिनिधि आत्महत्या तक कर चुके हैं। कंपनी व प्रबंधकों की ओर से दवा प्रतिनिधियों को इतना प्रताडि़त किया जाता है कि किसी भी तरह आप अपने लक्ष्य पूरा करो नहीं तो आपकी सेलेरी रोक ली जाएगी, तबादला कर दिया जाएगा और यहां तक कि नौकरी से भी निकाल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक दवा प्रतिनिधी का काम  कंपनी की दवा को चिकित्सकों तक प्रोमोट करना है और कंपनी की नीतियों को अपनाना होता है। दवा प्रतिनिधी सेल्ज एमपलोयी एक्ट के अंतर्गत आते है। उन्होंने कहा कि दवा प्रतिनिधि  जिस शहर में काम कर रहा है, उस शहर की गुणवत्ता के हिसाब से  पांच गुणा ज़्यादा लक्ष्य दवा कंपनी की ओर से दे दिया जाता है, जो पूरा ना होने पर दवा प्रतिनिधि का तबादला कर दिया जाता है या कंपनियों की आरे से प्रतिनिधियों की तनख्वाह भी रोक ली जाती है। महासचिव कुलवंत राय ने यह भी कहा कि एक दवा प्रतिनिधि कड़ी धूप, बरसात व आंधी में भी कंपनी के लिए काम करता है और कंपनी की दवाओं की प्रमोशन तक करता है, मगर कंपनी की ओर से प्रतिनिधि को इस कद्र परेशान करना, उचित नहीं है। दवा कंपनियों को चाहिए कि अपने प्रतिनिधियों को काम करने का अच्छा माहौल दें और उनके सेल्ज टारगेट को खत्म करें। बैठक में मौजूद तमाम दवा प्रतिनिधियों ने सरकार से मांग की है कि  ऐसी कंपनियों की अनएैथिकल प्रैक्टिस पर रोक लगाई जाए और दवा प्रतिििनधयो के टारगेट ख़त्म किए जाएं। इस बैठक में एसोसिएशन अध्यक्ष नवनीत कंबोज,पूर्व अध्यक्ष सुशील शर्मा ने संघ के सामाजिक कार्यों का विवरण भी दिया। इस मौके पर उपाध्यक्ष अमित टूटेजा, कमल शर्मा, संयुक्त सचिव पूर्ण, विकास मोंगा, कोषाध्यक्ष अमित लूथरा व राजेंद्र मनचंदा, अमित मेहता सहित 160 दवा प्रतिनिधि मौजूद रहे।