स्वयं सहायता समूहों को स्वावलंबी बनाने में ई-शक्ति परियोजना की अहम् भूमिका :संजीव शर्मा

281

सिरसा, 08 जून 2018 । एक्सपर्ट संस्थान के कार्यालय में स्वयं सहायता समूहों को मजबूत बनाने के उद्देश्य से संस्थान स्टॉफ के लिए क्षमता निर्माण प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नाबार्ड के डीडीएम संजीव शर्मा, आजीविका मिशन के जिला अधिकारी दयानंद जांगड़ा, एक्सपर्ट संस्थान के डायरैक्टर विनीत छाबड़ा विशेष तौर पर  मौजूद रहे। डीडीएम नाबार्ड संजीव शर्मा ने स्वयं सहायता समूहों को बनाने व उनको बैंकों से ऋण दिलाने के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहों का महिलाओं को स्वावलंबी बनाने की दिशा में महत्त्वपूर्ण योगदान है। इसी के मद्देनजर अब नाबार्ड ने ई-शक्ति परियोजना को भी शुरू किया है, जिसके माध्यम से तमाम स्वयं सहायता समूहों को डिजीटल किया जाना है। अभी तक 303 समूहों को डिजीटल किया जा चुका है, जिसके माध्यम से स्वयं सहायता समूहों को ऋण प्राप्त करने में आसानी हो रही है। आजीविका मिशन के जिला अधिकारी दयानंद जांगड़ा ने स्वयं सहायता समूहों को सरकार की ओर से मिलने वाले लाभ के बारे में विस्तृत जानकारी दी और कहा   कि सिरसा व डबवाली ब्लॉक में बनाए जा रहे स्वयं सहायता समूहों को आजीविका मिशन में लाया जा रहा है। एक्सपर्ट संस्थान डायरैक्टर विनीत छाबड़ा ने ई-शक्ति परियोजना के बारे में जानकारी दी और कहा कि स्वयं सहायता समूहों के लिए यह भारत सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजना है, क्योंकि इसी के माध्यम से समूहों को बैंक से ऋण व अन्य सरकारी सुविधाएं मिलेंगी। जिला कोर्डिनेटर विनोद सुथार ने उपस्थितजनों को बैंकों की वित्तीय योजनाओं से रू-ब-रू करवाया।